जेजेपी विधायक गौतम के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफे पर दुष्यंत ने कहा- अभी तक तो नहीं मिला, आएगा तो बात करेंगे

0

चंडीगढ़। जननायक जनता पार्टी के नारनौंद से विधायक रामकुमार गौतम द्वारा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिए जाने के बाद शुरू हुई सियासी हलचल पर दुष्यंत चौटाला ने बयान दिया है। चंडीगढ़ में प्रेसवार्ता कर दुष्यंत ने कहा कि मैंने भी वीडियो देखी है। गौतम जजपा के सबसे बुजुर्ग साथी हैं। उनकी यदि कोई शिकायत है तो वे संगठन के अंदर आकर बता सकते हैं। उनका इस्तीफा अभी तक पार्टी ऑफिस में नहीं आया है। 

दुष्यंत ने कहा कि यदि इस्तीफा आता भी है तो पार्टी के बड़े साथी उनसे मुलाकात करेंगे और चर्चा करेंगे। वे हमारे बड़े हैं। उनकी किसी बात का कोई बुरा नहीं मानते। पार्टी संगठन में उनका सहयोग है, बैठकर चर्चा की जाएगी। मंत्री पद की नाराजगी के सवाल पर दुष्यंत ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। 

ये कहा था विधायक रामकुमार गौतम ने

  • विधायक रामकुमार गौतम ने कहा था कि ‘इसकी भी लाइन तो पूर्वजों जैसी है, अपने से बड़े को नेता नहीं देख सकते।’ उन्होंने कहा कि जजपा से चुनाव लड़ना बड़ी भूल थी। जजपा राष्ट्रीय स्तर की पार्टी ही नहीं है। वे नारनौंद के गांव राखी गढ़ी में बारह खाप चबूतरे पर सभा संबोधित करने के बाद पत्रकारों से रूबरू थे। 
  • रामकुमार ने कहा, ‘चुनाव में पिंडारा गांव में दोनों भाइयों को आशीर्वाद देते हुए कहा था कि ये छोरा 36 बिरादरी को साथ लेकर चलेगा। लेकिन लाइन तो इसकी भी वही है, जो इसके पूर्वजों की थी। ये अपने से बड़े किसी को नेता देख ही नहीं सकते। पार्टी के विधायकों के बारे में कुछ नहीं सोचा गया। 
  • इससे सभी विधायक नाराज हैं। दुष्यंत ने पहले कहा था कि हमने पता लगा लिया है कि कैप्टन को तो केवल राम कुमार गौतम ही हरा सकता है। मुझे मंत्री बनाते तो बड़ी उड़ारी भरते। अब पैसा हजम खेल खत्म। अकेला ही 11 महकमों पर काबिज है। जबकि अाैर विधायक भी हैं, जिन्होंने डिप्टी सीएम बनाया है।’

बहुत बड़ा जख्म कर राख्या सै लोगा कै

  • गौतम ने कहा, ‘बहुत बड़ा जख्म कर राख्या सै लोगा कै। एक आध हाली-पाली छोड़कर सभी एमएलए परेशान हो रहे हैं। तू टैस्ट लेवगा सारा का, ऐ बात है तै चुनाव से पहले कहता। मुझे मंत्री न बनने का कोई मलाल नहीं है। मलाल इस बात का है कि गुड़गांव के एंबियंस मॉल में मिलकर समझौता कर गए, समझौता करना था तो चुनाव से पहले ही कर लेते। किसी को कोई दिक्कत नहीं होती।’

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.