सीएम ने कहा- सुशासन संकल्प वर्ष के रूप में मनाया जाएगा 2020, प्रदेशभर के 500 कर्मी हर साल होंगे पुरस्कृत

0

गुड़गांव. राज्य स्तरीय सुशासन दिवस समारोह में प्रदेश के सीएम मनोहर लाल ने राज्य के कर्मियों को प्रोत्साहित करने, नागरिकों को डिजीटल सुविधा देने व वर्ष 2020 को सुशासन संकल्प वर्ष के रूप में मनाने की घोषणा की, ताकि कर्मी सुधार की आवश्कता के अनुसार अपने सुझाव दें सकें तथा इन सुझावों को प्राप्त करने के लिए जल्द ही एक वेबसाइट भी शुरू की जाएगी। उन्होंने राज्य के कर्मियों को पुरस्कृत करने की घोषणा की, जिसके तहत राज्य स्तर पर, जिला स्तर व विभागीय स्तर पर प्रथम, द्धितीय व तृतीय श्रेणी के कर्मियों को पुरस्कार अगले 25 दिसंबर, 2020 को दिया जाएगा। इन तीन श्रेणियों के तहत लगभग 500 सर्वश्रेष्ठ कर्मचारियों को पुरस्कार दिया जाएगा।

इन योजनाओं की शुरुआत की : सीएम ने राज्य के नागरिकों को इलेक्ट्रानिक रूप से डिजिटल लॉकर सुविधा देने की भी शुरूआत की। इस डिजिटल लॉकर सुविधा के तहत कोई भी नागरिक अपने दस्तावेज लॉकर में डिजिटल के रूप में रख सकता है और उसका उपयोग कहीं भी कर सकता है। सीएम ने रिमोट कंट्रोल से पांच योजनाओं व परियोजनाओं की भी शुरूआत की, जिनमें 22 जिलों की वेबसाइट का शुभारंभ किया गया है। ये सभी जिलों की बेवसाइट सुरक्षित और सुगम्य होंगी तथा द्विभाषिये होंगी, जिसमें अंग्रेजी और हिन्दी भाषा का प्रयोग किया जा सकता है। इसी प्रकार, 91 तहसीलों के लिए बेव-हैलरिस की शुरूआत की गईं। यह प्रोग्राम डीड रजिस्ट्रेशन और भूमि रिकार्ड प्रबंधन के लिए एकीकृत प्रोग्राम है। इस पोर्टल पर डीड रजिस्ट्रेशन, इंतकाल, जमाबंदी, खसरा गिरदावरी, राइटस के रिकाॅर्ड की कापी जारी करने के लिए तैयार किया गया हैं। इस प्रणाली को ई-स्टांपिंग के लिए ई-ग्रास, एनओसी जांच, पैन नंबर की ऑनलाइन जांच, एचएसवीपी और एचएसआईआईडीसी के साथ एकीकृत किया गया है।

सीएम ने करनाल के सिरसी गांव को लाल डोरा मुक्त करते हुए डिजिटल मैप का उद्घाटन किया। डिजिटल मैप तेयार करने के लिए भारतीय सर्वेक्षण विभाग के साथ हरियाणा सरकार ने एक संयुक्त परियोजना पर काम करने का निर्णय लिया है, इसके लिए राज्य सरकार ने सर्वे आफ इंडिया के साथ समझौता किया है, जिसके तहत ग्रामीण, शहरी, कंट्रोल्ड और आबादी देह क्षेत्रों की बड़े स्तर पर मैपिंग की जाएगी।
सीएम ने लोकायुक्त पोर्टल की भी शुरूआत की। इस पोर्टल पर लोगों की शिकायतें ली जाएगी। इसके अलावा पोर्टल पर शिकायतों को मार्किंग, शिकायतों की जांच, निपटान, शिकायत का अंतिम निर्णय, रोजाना की सूची, पुराने मामले व निपटान हुए मामलों की जानकारी के साथ साथ निगरानी रिपोर्ट भी होगी। सरल व अंतोदय पोर्टल में 42 नई सेवाएं जोड़ने की शुरूआत की। अब सरल व अंतोदय पोर्टल पर 527 सेवाएं नागरिकों को मुहैया करवाई जा रही हैं।

मनोहर लाल बोले-हमारे भीतर सीखने की चाह होनी चाहिए

सीएम ने राज्यस्तरीय समारोह के दौरान वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से रोहतक, पलवल, करनाल, फतेहाबाद व यमुनानगर के अधिकारियों व कर्मचारियों से बातचीत की और उनकी शंकाओं का समाधान किया। यमुनानगर में कार्यरत पटवारी चेलाराम ने सीएम से कहा कि वे ज्यादा कम्प्यूटर नहीं जानते, ऐसे में वे किस प्रकार डिजिटाइजेशन से जुड़े। सीएम ने कहा कि हमारे भीतर सीखने की चाह होनी चाहिए। जब हम सीखना चाहते हैं तो हमारी मनोस्थिति स्वयं परिवर्तित हो जाती है, इसलिए वे धीरे-धीरे सीखते हुए आगे बढ़े और अपनी कार्यक्षमता बढ़ाएं। इसी प्रकार, रोहतक में पुलिस विभाग के इंस्पेक्टर बलवंत ने सीएम से पूछा कि काम करने के बावजूद भी कई बार लोग हमारी आलोचना करते हैं, ऐसे में वे किस प्रकार अपनी कार्य क्षमता बढ़ा सकते हैं। फतेहाबाद से ग्राम सचिव रमेश ने सीएम से पूछा कि यदि राजनीतिक लोगों का हस्तक्षेप हो तो हम कैसे ठीक काम करें। सीएम ने कहा कि यदि काम नियमों के अनुरूप हो तो उसके सुझाव को मान लें अन्यथा उसे व्यवहार कुशलता के साथ मना कर दें। करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज से प्रोफेसर डा. मीनाक्षी ने पूछा कि सोशल मीडिया पर आई जानकारी को कैसे हैंडल करें। सीएम ने कहा कि सोशल मीडिया पर जानकारी को अपने विवेक से परखें। सोशल मीडिया पर अगर कोई व्यक्तिगत दुर्भावना से गलत सूचना प्रेषित करता है तो उसके खिलाफ पुलिस को सूचित करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.